नसीब मेरा दुशमन

naseeb mera dushmanजुड़वा बच्चे पैदा हुए । एक अरबपति सेठ क यंहा बड़ा हुआ । दूसरा झोपडी पट्टी में । जो झोपडी पट्टी में पला उसे लगता था नसीब मेरा दुश्मन है क्यूंकि सेठ उसे गोद लेता तो आज वो वंहा होता जन्हा उसका जुड़वाँ भाई है । क्या वह दुरुस्त सोचता था कंही ऐसा तोह नहीं था कि नसीब उसके जुड़वाँ भाई का दुश्मन था ! अंततः क्या साबित हुआ ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>