विधवा का पति

vidhva ka patiएक आदमी की याददाश्त गुम हो गई । उसे यह पता लगाने के लिए निकलना पड़ा कि मैं कौन हूँ । फिर उसके सामने अपने तीन नाम आये वह इस उलझन में पड़ गया कि वास्तव में मैं कौन हूँ । वह उपन्यास जिस पर “अनाम” नाम की फ़िल्म बानी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>