गन का फैसला

gun ka faislaगन कोई भी हो, वह सिर्फ एक ही जुबान बोलती है । अपनी धार पर आये शख्स की मौत । जिसके हाथ में वो गन थी, वह धर्म का पालन कर रहा था या अधर्म का । यह फैसला आप इस उपन्यास को पड़ने के बाद ही कर पाएंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>